उन्होंने कहा कि पिछले कई मामलों में सीबीआई न्याय देने में विफल रही है और एसआईटी ने बेहतर जांच की।पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के मुताबिक महिलाओं और बच्चों समेत आठ लोगों की हत्या के पीछे साजिश थी.उन्होंने कहा कि अगर एजेंसी भगवा पार्टी के सिद्धांतों का पालन करती है तो पार्टी विरोध करेगी।उत्तर बंगाल के बागडोगरा में एक कार्यक्रम में बनर्जी ने कहा कि उन्हें अब भी लगता है कि रामपुरहाट की घटना के पीछे कोई साजिश है।

Mamata: Conspiracy behind Birbhum Killings

जांच एजेंसी को सौंपना एक अच्छा फैसला था।अगर वे फरमान का पालन करते हैं तो वे विरोध करने के लिए तैयार होंगे।उसने कहा, "हमने पिछले उदाहरणों में देखा है, जिसमें रवींद्रनाथ टैगोर के पुरस्कार की चोरी, नेताई घटना और तापसी मलिक मामले की जांच शामिल है, कि सीबीआई न्याय प्रदान करने में विफल रही है।"विशेष जांच दल ने बेहतर तरीके से जांच की।

कलकत्ता उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को केंद्रीय जांच ब्यूरो को गांव में हुई हत्याओं की जांच करने और 7 अप्रैल को प्रारंभिक रिपोर्ट सौंपने को कहा।अदालत ने राज्य सरकार को एफबीआई को पूर्ण सहयोग देने का आदेश दिया।घटना के बारे में बात करते हुए बनर्जी ने कहा कि पार्टी के एक कार्यकर्ता की पार्टी के दूसरे कार्यकर्ता ने हत्या कर दी।केवल एक चीज जिसकी आलोचना की जा रही है वह है टीएमसी।

घटना का मूल कारण जानने के लिए हमने कई कदम उठाए हैं।कई राज्यों में ऐसी कई घटनाएं हो चुकी हैं।पार्टी कार्यकर्ताओं को घटना स्थल पर नहीं जाने दिया गया।हमने किसी राजनीतिक दल को वहां जाने से नहीं रोका।