कंप्यूटर क्या है, इसके प्रकार, उपयोग और विसेस्ताएं What is computer in Hindi?

कंप्यूटर क्या है, इसके प्रकार, उपयोग और विसेस्ताएं What is computer in Hindi?

कंप्यूटर लफ्ज़ शायद ही ऐसा कोई इंसान हो जो ये नाम ना सुना हो। परन्तु हम में से ज्यादातर नहीं जानते हैं ये दर असल चीज़ हैं क्या, इसका आविष्कार कैसे हुआ, कितने प्रकार के कंप्यूटर होते हैं और इसका एहमियत आम ज़िंदगी में क्या है? ऐसे सारे सवालों के जवाब ये आर्टिकल आपको देगा।

Table of Contents

कंप्यूटर क्या है ? What is computer?

कोई भी यंत्र जो गणना की प्रक्रिया को आसान करें वो है कंप्यूटर। जरुरी नहीं के वो यंत्र बिजली से चलती हो। इसका मतलब कंप्यूटर का रिश्ता प्राचीन काल से भी है। विद्वान ये भी मानते हैं के अर्थ लेन देन और व्यबसाय की बृद्धि ही आधुनिक कंप्यूटर का जन्म का कारण है।

विशाल डाटा को संगृहीत कर रखना, जटिल से जटिल समीकरण को चुटकियों में समाधान करना और गणना से संबधित कार्यो को समापन करना कंप्यूटर का परिचय है।

कंप्यूटर की परिभाषा Definition of Computer

कंप्यूटर की परिभाषा - कंप्यूटर एक यंत्र है जिसे निर्देश देने पर, आवश्यक परिणाम उत्पन्न कर जानकारी प्रदान करता है। ये निर्देश कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के जरिये दिए जाते हैं। इसकी खासियत ये है के आसानी से थकता नहीं।

कंप्यूटर की फुल फॉर्म

कंप्यूटर का फुल फॉर्म है - Computer Operated Machine Particularly Used for Technology Education Research.

C - Commonly

O - Operated

M- Machine

P - Particularly

U - Used for

T - Technology

E - Education

R - Research

कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया Who had invented the computer?

वैसे तो इस सवाल का सीधा जवाब है नहीं क्यों की कंप्यूटर के अस्तित्व में किसी एक व्यक्ति विषेस का योगदान नहीं है। परन्तु आधुनिक कंप्यूटर के जन्म में ब्रिटिश गणितज्ञ चार्ल्स बैबेज जी के द्वारा निर्मित १८३७ की एनालिटिकल इंजन को माना जाता है।

चार्ल्स बैबेज (26 दिसंबर 1791 - 18 अक्टूबर 1871) एक अंग्रेजी पॉलीमैथ, गणितज्ञ, दार्शनिक, आविष्कारक और मैकेनिकल इंजीनियर थे। बैबेज ने एक डिजिटल प्रोग्रामेबल कंप्यूटर की अवधारणा को जन्म दिया। यही कारण है कि उन्हें कंप्यूटर का जनक माना जाता है।

कंप्यूटर का इतिहास History of Computer

कंप्यूटर का व्यबहार प्राचीन समय से है। हाँ वो यंत्र भले ही बिजली से ना चलते हों परन्तु उनका ब्यबहार गणना के लिए होते थे। समयानुक्रम भिन्न भिन्न किसम के कंप्यूटर का जन्म हुआ था।

अबेकस

कंप्यूटर का इतिहास अबेकस के जन्म से शुरू होता है। ऐसे माना जाता है के यह पहला कंप्यूटर है जिसको चीनी ने लगभग 4,000 साल पहले एक ऐसे यंत्र का आविष्कार किया था जो गणना में मददगार था।

फर्स्ट कंप्यूटिंग डिवाइस

चार्ल्स बैबेज ने एक तरह का कंप्यूटर का अविष्कार किये थे जो की भाप से चलता था और ६ डेसीमल वाले अंक तक गणना सठिक रूप से कर पाता था। और ये यंत्र संख्यों को याद रख पाता था।

फर्स्ट जनरेशन कंप्यूटर

पहली पीढ़ी कंप्यूटर की अवधि 1946 से लेकर1959 तक थी। पहली पीढ़ी के कंप्यूटरों ने सीपीयू (सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट) को जन्म दिया था जिस के लिए मेमोरी और सर्किट्री की आवस्यकता पड़ी। इसकी आपूर्ति के लिए वैक्यूम ट्यूबों का इस्तेमाल किया गया था। लेकिन इसका एक नुक्सान दायी गन भी था। ये ट्यूब, बिजली के बल्बों की तरह, बहुत अधिक गर्मी पैदा करती थीं ।नतीजा ऐसे कंप्यूटर बहुत महंगे थे और केवल बड़े बड़े संगठन ही इसे वहन करने में सक्षम थे।

सेकंड जनरेशन कंप्यूटर

दूसरी पीढ़ी की अवधि 1959 से लेकर 1965 तक की थी। इस पीढ़ी के कंप्यूटर में, वैक्यूम ट्यूब के बदले ट्रांजिस्टर का उपयोग किया गया था। ये ट्रांजिस्टर वैक्यूम ट्यूब के मुकाबले सस्ती थीं, और कम बिजली की खपत, अधिक विश्वसनीय और तेज थीं। और एक ख़ास बात ऐसे कंप्यूटर की थी के इसमें मेमोरी के लिए मैग्नेटिक टेप का प्रयोग किया गया था।

थर्ड जनरेशन कंप्यूटर

तीसरी पीढ़ी कंप्यूटर की अवधि 1965 से ले कर 1971 तक थी। तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटरों ने ट्रांजिस्टर की जगह इंटीग्रेटेड सर्किट (IC) का इस्तेमाल किया गया था।

फोर्थ जनरेशन कंप्यूटर

चौथी पीढ़ी कंप्यूटर की अवधि 1971 से ले कर 1980 तक थी। चौथी पीढ़ी के कंप्यूटरों ने बहुत बड़े पैमाने पर एकीकृत (वीएलएसआई) सर्किट का इस्तेमाल किया। वीएलएसआई सर्किट में एक ही चिप पर लगभग 5000 ट्रांजिस्टर और उनके जुड़े सर्किट के साथ अन्य सर्किट तत्व होते हैं, जिससे चौथी पीढ़ी के माइक्रो कंप्यूटर होना संभव हो गया है।

फिफ्थ जनरेशन कंप्यूटर

पांचवीं पीढ़ी कंप्यूटर की अवधि 1980 से ले कर आज तक है। पांचवीं पीढ़ी में, वीएलएसआई तकनीक ULSI (अल्ट्रा लार्ज स्केल इंटीग्रेशन) तकनीक बन गई, जिसके परिणामस्वरूप माइक्रोप्रोसेसर चिप्स के उत्पादन में दस मिलियन इलेक्ट्रॉनिक थे।

यह पीढ़ी समानांतर प्रसंस्करण (पैरेलल प्रोसेसिंग) हार्डवेयर और AI (आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस) सॉफ्टवेयर पर आधारित है। कंप्यूटर विज्ञान में AI एक उभरती हुई शाखा है, जो कंप्यूटर को इंसान की तरह बनाने के माध्यम और तरीके की व्याख्या करता है। इस पीढ़ी में सभी उच्च स्तरीय भाषाओं जैसे C और C ++, Java, .Net आदि का उपयोग किया जाता है।

कंप्यूटर के प्रकार Types of computer

Main Frame computer

मेनफ्रेम एक प्रकार के कंप्यूटर हैं, जो ’कम समय में विशाल डाटा के समूह हो चाँद सेकंडों में समाधान’ के लिए बनाए जाते हैं। मिसाल के तौर पर स्टॉक एक्सचेंज का डाटा प्रोसेसिंग मेनफ़्रेम कंप्यूटर द्वारा की जाती है।

Super computer

सुपरकंप्यूटर एक सामान्य-उद्देश्य वाले कंप्यूटर की तुलना में उच्च स्तर के प्रदर्शन वाला एक कंप्यूटर है। सुपरकंप्यूटर का प्रदर्शन सामान्यतः फ्लोटिंग-पॉइंट ऑपरेशन प्रति सेकंड (FLOPS) के बजाय मिलियन निर्देश प्रति सेकंड (MIPS) में मापा जाता है।

Work Station computer

वर्कस्टेशन पीसी एक तरह कंप्यूटर है जिसे पेशेवर कार्यों को पूरा करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

Personal Computer

आम ब्यक्तिगत कार्य सम्पादित करने लिए छोटे कंप्यूटर बनाये गए हैं जो आम तौर पर पर्सनल कंप्यूटर कहलाते हैं। डेस्कटॉप कंप्यूटर पर्सनल कंप्यूटर का एक विशेष उदहारण है।

Laptop

अपने संग आसानी से ले जा सके ऐसे कंप्यूटर को लैपटॉप कहते हैं। ये आकार में छोटा होता है और ये वो तमाम कार्य कर सकता है जो आम तौर पर पर्सनल कंप्यूटर करता है।

Tablet

लैपटॉप से छोटी और मोबाइल फ़ोन से बड़ी बगैर कीबोर्ड वाली लैपटॉप को टेबलेट कहते हैं। इसका आकर मोबाइल फ़ोन थोड़ा ज्यादा होता है जिसकी वजह से इसको आसानी से कहीं भी ले जा सकते हैं।

Smart Phone

स्मार्ट फ़ोन एक तरह का फ़ोन ही होता है जिसमे फ़ोन के साथ साथ हम लोग दूसरे कंप्यूटर से जुड़ी कार्य कर सकते हैं। जैसे इंटरनेट एक्सेस करना, डाटा फाइल क्रिएट, स्टोर, मणिपुलटे और डिलीट करना। फोटो स्टोर करना इत्यादि।

कंप्यूटर के पार्ट्स Computer parts

कंप्यूटर के मूल तीन भाग होते हैं।

डाटा इनपुट यूनिट

कंप्यूटर को जिस यूनिट की मदद से निर्देश दिए जाते हैं उसको डाटा इनपुट यूनिट कहते हैं। उदहारण : कीबोर्ड

डाटा प्रोसेसिंग यूनिट

कंप्यूटर का दिमाग हैं प्रोसेसिंग यूनिट। प्रोसेसिंग यूनिट दिए गए निर्देशों का पालन कर परिणाम प्रस्तुत करते हैं। डेस्कटॉप कंप्यूटर में जो cpu होता है, वो ही प्रोसेसिंग यूनिट है।

मदर बोर्ड

प्रोसेसिंग यूनिट का मुख्य अंस है मदर बोर्ड। मदर बोर्ड निम्न लिखित उपकरणों का मिला जुला रूप है।

हार्ड डिस्क

हार्ड डिस्क के अंदर कंप्यूटर का आत्मा ऑपरेटिंग सिस्टम इन्सटाल्ड रहता है। और साथ ही साथ जो डाटा यूजर स्टोर करना चाहे वो डाटा स्टोर कर सकते हैं।

प्रोसेसर

कंप्यूटर को दिए जाने वाले सारे निर्देश की प्रोसेसिंग मदर बोर्ड के अंदर स्थित प्रोसेसर करता है। आम तौर पर इंटेल कंपनी की प्रोसेसर इस्तेमाल किये जाते हैं।

RAM

कंप्यूटर को दिए जाने वाले निर्देशों का सही पालन करने के लिए प्रोसेसर को एक स्वंतंत्र मेमोरी की आवस्यकता रहती है जिससे RAM पूर्ती करता है।

डाटा डिस्प्ले / आउटपुट यूनिट

दिए गए निर्देशों का पालन कर परिणाम प्रस्तुत करने के बाद कंप्यूटर परिणाम जिस जगह प्रदर्शित करता है उसको डिस्प्ले यूनिट कहते हैं। उदहारण : मॉनिटर

कंप्यूटर की विशेषताएं Special about Computer

आपकी उत्पादकता बढ़ाता है

भारी मात्रा में जानकारी संग्रहीत कर सकते हैं और कचरे को कम कर सकते हैं

आपको इंटरनेट से जोड़ता है

सूचना के माध्यम से क्रमबद्ध, व्यवस्थित और खोजने में मदद करता है

आपको जोड़े रखता है

डेटा की बेहतर समझ रखता है

आपको जानने और आपको सूचित रखने में मदद कर सकता है

आप पैसा कमा सकते हैं

अपनी क्षमताओं में सुधार करता है

स्वचालित और मॉनिटर करने में मदद कर सकता है

समय बचाना

कंप्यूटर का उपयोग Use of Computer

कंप्यूटरों का उपयोग घरों में ऑनलाइन बिल भुगतान, घर पर फिल्में या शो देखने, होम ट्यूशन, सोशल मीडिया एक्सेस, गेम खेलने, इंटरनेट एक्सेस आदि जैसे कई उद्देश्यों के लिए किया जाता है।

अस्पतालों में कंप्यूटरों का उपयोग मरीजों के इतिहास, निदान, एक्स-रे, रोगियों की लाइव निगरानी आदि के लिए किया जाता है। सर्जन आजकल नाजुक ऑपरेशन करने के लिए रोबोट सर्जिकल उपकरणों का उपयोग करते हैं, और दूर से सर्जरी आयोजित करते हैं।

कंप्यूटर ऑनलाइन फिल्में देखने में मदद करते हैं, ऑनलाइन गेम खेलते हैं; गेम खेलने, संगीत सुनने में एक आभासी मनोरंजन के रूप में कार्य करें।

कंप्यूटर का उपयोग इन्वेंट्री के प्रबंधन, डिजाइनिंग उद्देश्य, वर्चुअल सैंपल प्रोडक्ट्स, इंटीरियर डिजाइनिंग, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग जैसे उद्योगों में कई कार्य करने के लिए किया जाता है

कंप्यूटर का उपयोग शिक्षा क्षेत्र में ऑनलाइन कक्षाओं, ऑनलाइन परीक्षाओं, ई-पुस्तकों, ऑनलाइन ट्यूशन के संदर्भ में किया जाता है

सरकारी क्षेत्रों में, कंप्यूटर का उपयोग डाटा प्रोसेसिंग, नागरिकों के डेटाबेस को बनाए रखने और एक पेपरलेस वातावरण का समर्थन करने में किया जाता है।

बैंकिंग क्षेत्र में, कंप्यूटर का उपयोग ग्राहकों के विवरणों को संग्रहीत करने और लेनदेन करने के लिए किया जाता है, जैसे कि एटीएम के माध्यम से पैसे की निकासी और जमा।

कंप्यूटर का महत्व Importance of computer

कंप्यूटर आजकल बहुत महत्वपूर्ण हो गया है क्योंकि यह बहुत सटीक, तेज है और कई कार्यों को आसानी से पूरा कर सकता है। अन्यथा उन कार्यों को मैन्युअल रूप से पूरा करने के लिए बहुत अधिक समय की आवश्यकता होती है। यह केवल एक सेकंड के एक अंश में बहुत बड़ी गणना कर सकता है। इसके अलावा यह इसमें बड़ी मात्रा में डेटा स्टोर कर सकता है।

About The Author

श्रीकांत पाढ़ी

नमस्कार, मैं इस साइट का फाउंडर, एडमिन और ऑथर हूँ। मैं इलेक्ट्रॉनिक्स और टेलीकम्यूनिकेशन इंजीनियरिंग में B.Tech डिग्री से ग्रेजुएट हूँ और मैं एक सेल्फ एम्प्लॉयड हूँ। मैं ब्लॉग्गिंग, यूट्यूब, वीडियो एडिटिंग, VFX, वेब डेवलप, एप्प डेवलप और स्क्रीनराइटिंग करता हूँ। मुझे ज्ञान बाँटना पसंद है । मैं हिंदी और इंग्लिश में आर्टिकल लिखता हूँ।

कैसे संपर्क करें?

निचे दिए गए लिंक पर संपर्क कर सकते हैं। (Follow Me!)